NEET UG Passing Marks: इस बार इतने नंबर में होगा सिलेक्शन, यहाँ देखें कट ऑफ

नीट यूजी पासिंग मार्क्स से संबंधित जानकारी लाखों उम्मीदवार जानना चाहते हैं इस बार नीट यूजी की परीक्षा में 24 लाख से भी अधिक उम्मीदवार शामिल हुए थे। पासिंग मार्क्स को हासिल करने वाले उम्मीदवारो को ही पसंदीदा मेडिकल कॉलेजों में एडमिशन प्रदान किया जाएगा।

नीट एक राष्ट्रीय स्तर की प्रवेश परीक्षा है। डॉक्टर बनने के लिए इस परीक्षा को पास करना जरूरी होता है डॉक्टर बनने के उद्देश्य से ही अनेक उम्मीदवार इस परीक्षा में शामिल होते है। जब इस परीक्षा को पास कर लिया जाता है तो उसके बाद में उम्मीदवारों को प्रतिष्ठित मेडिकल कॉलेज में प्रवेश की कट ऑफ के अनुसार एडमिशन दिया जाता है वहां पर वह एमबीबीएस और बीडीएस जैसे कोर्स को कर सकते हैं।

1 लाख सीटों पर एमबीबीएस कोर्स के लिए उम्मीदवारो को एडमिशन दिया जाएगा वही बीडीएस की सीटों की संख्या 26949 है, 52720 आयुष की सीटे है, एचएच की 603 सीटे है। वही एम्स की 1899 सीटे है और जिपमर की 259 सीटे हैं। इन सभी रिक्त सीटों पर योग्य उम्मीदवारों को एडमिशन दिया जाएगा। चलिए विस्तृत रूप से पासिंग मार्क से जुड़ी पूरी जानकारी जानते हैं।

NEET UG Passing Marks

नीट यूजी की परीक्षा में पास होने के लिए उम्मीदवार को जारी किए जाने वाले न्यूनतम कट ऑफ अंक या अधिकतम कट ऑफ अंक हासिल करने होंगे तब वह तब वह उम्मीदवार इस परीक्षा में पास माने जाएंगे। जब भी इस परीक्षा का आयोजन किया जाता है तो परीक्षा का आयोजन कर देने के बाद में उम्मीदवारों के लिए कट ऑफ अंक अवश्य जारी किए जाते हैं और इस बार भी परीक्षा का आयोजन हो जाने की वजह से उम्मीदवारों के लिए कट ऑफ अंक जारी किए जाएंगे।

नीट यूजी पासिंग मार्क्स यानि की कट ऑफ अंक हर बार जब भी निर्धारित किए जाते हैं तो अनेक कारकों को देखा जाता है और इस बार भी देखा जाएगा जिसमें परीक्षा में शामिल होने वाले विद्यार्थियों की संख्या एग्जाम की कठिनाई का स्तर तथा उपलब्ध सीटों को देखा जाता है इसके अलावा भी कुछ महत्वपूर्ण बिंदुओं को और देखा जाता है।

नीट यूजी अपेक्षित पासिंग मार्क्स

विशेषज्ञों के द्वारा और कोचिंग संस्थानों के द्वारा अपेक्षित कट ऑफ अंकों को यानी की पासिंग मार्क्स को जारी किया जाता है तो उन्हें भी आप वर्तमान समय में देख सकते हैं। जब भी नीट यूजी पासिंग मार्क्स को जारी किया जाएगा तो अलग-अलग वर्गों के उम्मीदवारों के लिए अलग-अलग पासिंग मार्क्स जारी किए जाएंगे और उम्मीदवार को अपने वर्ग के अनुसार ही पासिंग मार्क्स को हासिल करना होगा। और यह परीक्षा में क्वालीफाई होने के लिए सबसे महत्वपूर्ण है।

अपेक्षित कट ऑफ अंक सामान्य वर्ग के उम्मीदवारों के लिए 720-138 और कट ऑफ परसेंटाइल 50वा वही एससी एसटी और ओबीसी वर्ग के उम्मीदवारों के लिए अपेक्षित कट ऑफ अंक 133-107 और परसेंटाइल 45वा परसेंटाइल जनरल पीडब्ल्यूडी वर्ग के उम्मीदवारों के लिए अपेक्षित कट ऑफ अंक 136-121 और परसेंटाइल 40वा, एससी एसटी ओबीसी पीडब्ल्यूडी वर्ग के उम्मीदवारों के लिए अपेक्षित कट ऑफ अंक 136-108 और परसेंटाइल 40 वा।

नीट यूजी कट ऑफ के प्रकार

नीट यूजी की परीक्षा में दो प्रकार के कट ऑफ अंको को देखा जाता है और दोनों प्रकार के कट ऑफ अंक से जुड़ी जानकारी उम्मीदवारो के पास अवश्य उपलब्ध होनी चाहिए कट ऑफ में प्रवेश कट ऑफ और योग्यता कट ऑफ़ दोनों प्रकार की कट ऑफ होती है। नीट यूजी क्वालीफाइंग कट ऑफ अंक वह अंक होते हैं जिसे हासिल करके उम्मीदवार परीक्षा में पास हो जाते है लेकिन कॉलेज में प्रवेश के लिए कोई भी गारंटी नहीं रहती है।

नीट यूजी प्रवेश कट ऑफ वह अंतिम स्टेप्स है जिसके जरिए उम्मीदवार को एडमिशन प्रदान कर दिया जाता है यहां पर उम्मीदवार के एडमिशन की गारंटी रहती है

नीट यूजी परीक्षा परिणाम

इस बार नेशनल टेस्टिंग एजेंसी के द्वारा नीट यूजी परीक्षा का परिणाम 14 जून 2024 को जारी किया जाएगा यानी कि अगले महीने में आपको परीक्षा का परिणाम देखने को मिल जाएगा। नेशनल टेस्टिंग एजेंसी के द्वारा इस तारीख की घोषणा पहले ही कर दी गई थी।

नीट यूजी परीक्षा से जुड़ी अन्य जानकारी

नीट यूजी परीक्षा का आयोजन इस बार 5 मई 2024 को किया गया था। परीक्षा ऑफलाइन मोड में पेन और कागज के द्वारा आयोजित करवाई गई थी। वहीं पूरे पेपर को समाप्त करने के लिए उम्मीदवार को 3 घंटे 20 मिनट का समय दिया गया था।

सभी उम्मीदवारों के लिए अलग-अलग भाषाओं में पेपर उपलब्ध करवाए गए थे जैसे की अंग्रेजी हिंदी बंगाली कन्नड़ मराठी पंजाबी आदि, परीक्षा का आयोजन हो जाने के बाद में अब उम्मीदवार के प्रत्येक सही उत्तर के चार अंक जोड़े जाएंगे और प्रत्येक गलत उत्तर का एक अंक काटा जाएगा।

Leave a Comment

Join Telegram